इंटरनेट यूजर्स (Internet Users) के लिए अच्छी खबर आ रही है। जल्द ही लोगों को 5जी सेवाएं (5G Services) मिल सकती हैं।

 ये सवाएं 4G सेवाओं की तुलना में 10 गुना अधिक तेज होंगी। केंद्रीय कैबिनेट (Central Cabinet) ने आईएमटी/5G स्पेक्ट्रम (IMT/5G Spectrum) की नीलामी की अनुमति दे दी है।

इसमें 20 वर्षों की अवधि के लिए 72 गीगाहर्ट्ज से अधिक के स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी। प्रधानमंत्री नरेंद मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में 5जी स्पेक्ट्रम को लेकर यह बड़ा फैसला लिया गया है।

आज देश में 80 करोड़ ग्राहकों की ब्रॉडबैंड तक पहुंच है। यह आंकड़ा साल 2014 में सिर्फ दस करोड़ था। यहां बता दें कि नीलामी के लिए स्पेक्ट्रम की कुल कीमत 5 लाख करोड़ रुपये रखी गई है।

5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी जुलाई के आखिर से शुरू हो जाएगी। यह नीलामी 20 वर्षों के लिए होगी।

इसमें 600, 700, 800, 900, 1,800, 2,100 और 2,300 मेगाहर्ट्ज बैंड का लो रेंज का स्पेक्ट्रम, 3300 मेगाहर्ट्ज बैंड का मध्यम रेंज का स्पेक्ट्रम और 26 गीगाहर्ट्ज बैंड का हाई रेंज वाला स्पेक्ट्रम शामिल है।